Viewers : 2598029

दो बार वर्ल्ड कप फाइनल के हीरो रहे गौतम गंभीर ने इंटरनेशनल क्रिकेट से लिया संन्यास




दो साल से इंटरनेशनल मैचों से दूर चल रहे गौतम गंभीर ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया है. बाएं हाथ के ओपनर गौतम गंभीर ने मंगलवार 4 दिसंबर को इसकी घोषणा की. गौतम गंभीर ने संन्यास की जानकारी अपने फेसबुक पेज पर दी है. गौतम गंभीर नवंबर 2016 के बाद से टीम इंडिया से बाहर थे. उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट मैच इंग्लैंड के खिलाफ नवंबर 2016 में राजकोट में खेला था. 

गौतम गंभीर कुछ दिन पहले ही 37 साल के हुए थे. टीम इंडिया में जगह नहीं बना पाने के कारण उनके क्रिकेट भविष्य पर आए दिन लोग सवाल पूछते रहते थे, लेकिन उन्होंने इन सभी कयासों पर विराम लगा दिया. गंभीर ने 58 टेस्ट, 147 वनडे और 37 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले. गंभीर ने 58 टेस्ट मैचों में 41.96 की औसत से 4154 रन बनाए. इनमें नौ शतकीय पारी शामिल हैं.

गौतम गंभीर ने 147 वनडे मैचों में 39.68 की औसत और 11 शतकीय पारियों की मदद से 5238 रन बनाए. गंभीर से टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी अपनी छाप छोड़ी. उन्होंने 37 मैच में सात अर्धशतक की मदद से 932 रन बनाए. इनमें उनका औसत 27.41 का था. गौतम गंभीर 2007 में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए टी20 फाइनल में सबसे बड़ा स्कोर बनाने वाले खिलाड़ी थे. उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ इस मैच में 75 रन बनाए थे. गंभीर ने 2011 में श्रीलंका के खिलाफ खेले गए वनडे विश्व कप के फाइनल में 97 रन बनाए थे. यह फाइनल में किसी भी भारतीय का टॉप स्कोर था. 

भारत ने गौतम गंभीर के करियर के दौरान दो विश्व कप (टी20 विश्व कप 2007, वनडे विश्व कप 2011 ) जीते. गंभीर ने इन दोनों ही विश्व कप के फाइनल में भारत के टॉप स्कोरर रहे थे. गौतम गंभीर ने कहा कि ये जीवन का सबसे मुश्किल फैसला था, जिसे उन्होंने भारी मन से लिया है. उन्हें बहुत दिनों से लग रहा था कि इसका समय आ गया है. उन्होंने अपने करियर में मदद करने वालों को धन्यवाद दिया है.

गंभीर ने कहा, ‘आंध्र प्रदेश के साथ होने वाला रणजी ट्रॉफी मुकाबला मेरे करियर का अंतिम प्रथमश्रेणी मैच होगा. मेरे करियर का अंत वहीं होने जा रहा है, जहां (कोटला स्टेडियम) से मैंने शुरुआत की थी. एक बल्लेबाज के तौर पर मैंने टाइमिंग का सम्मान किया है. मेरे लिए यह संन्यास लेने का सही समय है और मुझे लगता है कि यह मेरे शॉट्स की तरह ही स्वीट है.’ अपने दो दशक के क्रिकेट करियर के दौरान गंभीर भारत के अलावा दिल्ली, दिल्ली डेयरडेविल्स, एसेक्स, कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए खेले. कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान के तौर पर गंभीर ने दो बार आईपीएल खिताब जीते हैं. वे दिल्ली की रणजी टीम तथा डेयरडेविल्स टीम के भी कप्तान रहे हैं. 




Leave your comment