Viewers : 2436078

"भारत की आत्मा का नाम ही अध्यात्म है," : संत प्रवर विज्ञान देव




भारत का नाम ही अध्यात्म है, अधयतामिक महापुरुषों के ही बदौलत भारत विश्वगुरु रहा है और रहेगा। ये बातें विहंगम योग के संत प्रवर विज्ञान देव जी महाराज ने बोकारो के सेक्टर 5 स्थित महर्षि सदाफल देव आश्रम और कथारा ऑफिसर्स क्लब में आयोजित मूर्ति संकल्प यात्रा में कही। उन्होंने कहा कि विहंगम योग के प्रणेता सद्गुरु सदाफल देव जी महाराज ने अपनी साधना से स्वर्वेद महाग्रंथ की रचना की। उन्होंने कहा कि सदगुरु देव की 120 फुट ऊंची मूर्ति स्वर्वेद महामंदिर धाम, वाराणसी में स्थापित होगी। संत जी ने कहा कि विहंगम योग का ध्यान आंतरिक शक्ति का मार्ग प्रशस्त करता है। ध्यान से मानव मनवियों गुणों से मंडित हो कर दिव्यगुण स्वभाव वाला बन जाता है। उन्होंने कहा कि मानव के मन में अशांति है और जब तक ये अशांति है तब तक विश्व में शांति की कल्पना नही की जा सकती है। कार्यक्रम में अंतराष्ट्रीय प्रचारक सुखनंदन सिंह 'सदय', प्रदेश अध्यक्ष राधाकृष्णा सिंह, उदय प्रताप सिंह, डॉ0 पंकज दुबे, प्रदीप कुमार, अविनाश सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

 





Leave your comment