Viewers : 2632161

सुदूर राज्यों में फंसे प्रवासी झारखंडियों को एयरलिफ्ट करने के लिए फिर सीएम हेमंत सोरेन ने गृह मंत्री अमित शाह को लिखा पत्र




राज्य सरकार ने सुदूर राज्यों में फंसे प्रवासी झारखंडियों को एयरलिफ्ट करने के लिए एक बार फिर केंद्र से इजाजत मांगी है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने खुद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि लद्दाख और पूर्वोत्तर में फंसे झारखंड के करीब 650 लोगों को चार्टर प्लेन से लाने की अनुमति दी जाए। 12 मई को अंडमान-निकोबार में फंसे 319 प्रवासियों को विमान से लाने की अनुमति के लिए गृह मंत्रालय से आग्रह किया जा चुका है।

मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा कि देश के अलग-अलग राज्यों में फंसे झारखंड के लोगों को लाने की अनुमति प्रधानमंत्री से मिलने के बाद करीब डेढ़ लाख श्रमिक, छात्र व अन्य लोग झारखंड आ चुके हैं। लेकिन अंडमान-निकोबार, लद्दाख और उत्तर पूर्वी राज्यों में फंसे लोगों को ट्रेन या बस से लाना फिलहाल संभव नहीं है। लिहाजा, केंद्र सरकार ऐसे प्रवासियों को विशेष विमान से लाने की अनुमति प्रदान करे। 

सीएम ने बुधवार को  केंद्रीय गृह मंत्री को भेजे पत्र में लिखा है कि लॉकडाउन के कारण विभिन्न राज्यों में श्रमिक बेरोजगार होकर फंस गए हैं। उन्हें कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है और वे वापस आने के लिए बेचैन हो रहे हैं। फंसे श्रमिक मुख्यमंत्री कार्यालय से लगातार संपर्क में हैं और वापस लाने की मांग कर रहे हैं। वर्तमान स्थिति में दूसरे राज्यों में फंसे झारखंडियों को केंद्र सरकार की अनुमति के बाद बस व ट्रेन से वापस लाया जा रहा है। 




Leave your comment