Viewers : 2866184

बिहार में 10 चरण में होंगे पंचायत चुनाव, जानें आपके जिले में कब होगी वोटिंग




बिहार में पंचायत चुनाव 2021 की तैयारी ने जोर पकड़ ली है। इसके तहत राज्य निर्वाचन आयोग ने सूबे के सभी 38 जिलों में कुल 10 चरणों में चुनाव कराने का निर्णय लिया है। चुनाव के लिए आयोग के पास कुल 15 हजार मल्टीपोस्ट ईवीएम मशीन ही उपलब्ध है। इन्हीं ईवीएम मशीन से पूरे राज्य में पंचायत चुनाव कराए जाएंगे। बाढ़ प्रभावित जिलों में पांचवें और छठे चरण में चुनाव कराने की योजना है। 

चुनाव आयोग ने पंचायत चुनाव के लिए जो रणनीति तय की है, उसके अनुसार पहले चरण में तीन प्रमंडल के एक जिले में चुनाव कराया जाएगा। इसके साथ ही यह निर्णय लिया गया है कि एक जिले में एक ही दिन में चुनाव संपन्न होगा। राज्य चुनाव आयोग ने ईवीएम की उपलब्धता के आधार पर जो योजना तैयार की है, उसमें वर्ष 2016 के मतदान केंद्रों की संख्या को ध्यान में रखकर निर्णय किया गया है। यदि इस साल कोविड गाइडलाइन के कारण मतदान केंद्रों की संख्या में बदलाव होता है तो संभव है कि चुनाव के लिए तय चरणों में कुछ बदलाव किया जाये। लेकिन, अब तक की तैयारी के अनुसार यह चुनाव 10 चरणों में ही संपन्न होगा। 

पहले चरण में तीन, दूसरे में चार, तीसरे में पांच, चौथे  में तीन, पांचवें में तीन, छठे में चार, सातवें में चार, आठवें में चार, नौवें में चार व दसवें चरण में भी चार जिलों में पंचायत चुनाव संपन्न कराया जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव योगेंद्र राम ने इसके लिए सभी जिलों को दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। बताया जा है कि चुनाव की तिथि की घोषणा जल्द की जाएगी।

प्रत्येक ईवीएम के साथ लगे होंगे छह बैलेट यूनिट:

पंचायत चुनाव के लिए जो मल्टीपोस्ट ईवीएम इस्तेमाल किया जाएगा, उसमें एक ईवीएम में छह बैलेट यूनिट लगाये जाएंगे। प्रत्येक पद के लिए एक बैलेट यूनिट निर्धारित किया गया है। उल्लेखनीय है कि पंचायत चुनाव में प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र सदस्य, पंच, मुखिया, सरपंच, पंचायत समिति सदस्य व जिला परिषद सदस्य के पद का चुनाव होना है। हर पद के लिए एक बैलेट यूनिट के हिसाब से छह बैलेट यूनिट लगाये जाएंगे। आपको बता दें कि यदि एक पंचायत में 15 उम्मीदवार चुनाव लड़ते हैं तो एक कंट्रोल व छह बैलेट यूनिट होंगे। यदि उम्मीदवारों की संख्या 15 से अधिक होती है तो कंट्रोल यूनिट को भी बढ़ाना होगा। 

पहला चरण : मधुबनी, सुपौल व अररिया 
दूसरा चरण  : दरभंगा, मधेपुरा, किशनगंज व सीतामढ़ी 
तीसरा चरण : समस्तीपुर, सहरसा, पूर्णिया, शिवहर व शेखपुरा 
चौथा चरण  : पूर्वी चंपारण, कटिहार व बेगूसराय 
पांचवा चरण : मुजफ्फरपुर, खगड़िया व सारण
छठा चरण   : पश्चिम चंपारण, गोपालगंज, नालंदा व जहानाबाद 
सातवां चरण : वैशाली, सीवान, भागलपुर व लखीसराय 
आठवां चरण : पटना, मुंगेर, नवादा व बांकार 
नौवां चरण   : जमुई, भोजपुर, गया व बक्सर
दसवां चरण  : औरंगाबाद, अरवल, रोहतास व कैमूर  


Leave your comment